नज़रें मिलते ही नज़रों से नज़रों को चुराये कैसी ये हया तेरी जो तू पलकों को झुकाये

रब जो पोशीदा है उसको निहारे तू और जो गरवीदा है उसको टाले तू

तेरी झलक अशरफी श्रीवल्ली नैना मदक बर्फी तेरी झलक अशरफी श्रीवल्ली बातें करे दो हरफी

हमम सारा ज़माना है मेरे पीछे पर ये दीवाना है तेरे पीछे

सर ये झुकने ना दूँ दुनिया के आगे पर तेरी पायल देखु कर के सर निचे

ना तमन्ना हीरा पन्ना मुझको है बस तेरा बनना एक झलक तेरी आंखों में ख्वाब सजा जाये

तेरी झलक अशरफी श्रीवल्ली नैना मदक बर्फी तेरी झलक अशरफी श्रीवल्ली बातें करे दो हरफी

तेरी सहेलियां सादा मामूली उसके मुकाबले थोड़ी तू भली जैसे ही सोलवां चढ़ जाये सावन तू क्या हर लड़की दिखे फूलों की कली

बांस पे लिपटी लाल साड़ी वो भी दिखे राज कुमारी झुमके बिंदी और गजरे से रूप निखर जाये फिर भी

तेरी झलक अशरफी श्रीवल्ली नैना मदक बर्फी तेरी झलक अशरफी श्रीवल्ली बातें करे दो हरफी