What is Demat Account in Hindi | Demat Account meaning in Hindi

What is Demat Account in Hindi

What Is Demat Account In Hindi

Demat Account का नाम सुनते ही आप के दिमाग में बैंक अकॉउंट जैसा कुछ आने लगा होगा। आप बिलकुल सही सोच रहे हैं Demat Account भी कुछ ऐसा ही होता है बस इसमें आप को बैंक में जाने की जरुरत नहीं पड़ती है। Demat Account, Share Market का एक ऐसा शब्द है जिसके बिना Sahre Marketing अधूरी है। इसके बिना न तो आप शेयर खरीद सकते हो न ही बेच सकते हो Demat Account आप के सभी Sahre का करता धरता है। तो चलिए आगे बढ़ते है और बात करते है What is Demat Account in Hindi की पूरी जानकारी।

साधारण शब्दो में अगर बात करे तो Demat Account एक प्रकार का वॉलेट हैं जिसमे आप अपने पैसे को जोड़ सकते हो वो भी अपने आवश्कता के अनुसार। पैसे को जोड़ने और निकालने दोनों की सुविधा Demat Account में दी जाती है। आप Demat Account में google pay, UPI, डायरेक्ट बैंक ट्रान्सफर के मध्यम से पैसे को जोड़ सकते हो। पैसा निकालने के लिए आप को अपने बैंक अकाउंट के डिटेल्स Demat Account में ऐड करना पड़ेगा जो की काफी आसान हैं।

जब आप कोई चीज खरीदते हो, और उन सामग्रियों को किसी एक स्थान पर रखने के लिए आप को किसी लॉकर की जरुरत पड़ती हैं। यह बिल्कुल आपके बैंक लॉकर की तरह है, जहां पर आप अपने कीमती सामान को रखते हो। जबकि, Demat Account के मामले में, आप अपने सभी स्टॉक को इलेक्ट्रॉनिक के रूप में रखते हैं।
ये तो हो गयी पैसे डालने और निकलने की बात अब बात करते है और क्या क्या होता है इस Demat Account में। Demat Account में मार्किट की सारी लिस्ट होती है जिसमे इनके बढ़ने घटने की जानकारी आप को मिलती रहती है।

Types of Demat Account

यहाँ पर दो प्रकार के डीमैट खाते हैं:

  • प्रत्यावर्तनीय डीमैट खाता (Repatriable Demat account)
  • गैर-प्रत्यावर्तनीय डीमैट खाता (Non-repatriable Demat account)

प्रत्यावर्तनीय (Repatriable) फंड्स एक अलग बैंक खाते में जमा कीया जाता हैं जिसे अनिवासी बाह्य खाता (एनआरई खाता) के रूप में जाना जाता है। प्रत्यावर्तनीय निधि वे निधियां हैं जिन्हें विदेश में स्थानांतरित किया जा सकता है। इन फंडों से किए गए निवेश को एक प्रत्यावर्तनीय डीमैट खाते में रखा जाता है, जिसमें प्रत्यावर्तनीय निधियों से किए गए निवेश होते हैं। दूसरी ओर, गैर-प्रत्यावर्तनीय निधि (निधि जो विदेश में नहीं ली जा सकती / स्थानांतरित नहीं की जा सकती) एक अलग बैंक खाते में जमा की जाती है जिसे अनिवासी साधारण खाता (एनआरओ खाता) के रूप में जाना जाता है। गैर-प्रत्यावर्तनीय डीमैट खाता गैर से किए गए निवेश को रखता है। -प्रत्यावर्तनीय निधि। एनआरई से एनआरओ खाते में आसानी से पैसा ट्रांसफर किया जा सकता है। हालांकि, एक बार ट्रांसफर हो जाने के बाद, प्रत्यावर्तन खो जाता है और पैसा वापस एनआरई खाते में स्थानांतरित नहीं किया जा सकता है।

What is Demat account What is the use of it


Demat account का प्रयोग शेयर मार्किट में किया जाता है, आपके शेयर को खरीदने बेचने और होल्ड कर के रखने के काम आता है। Demat account में सभी प्रकार के कंपनियों के शेयर होते हैं। जिसमे आप अपने अनुभव के अनुसार ट्रेडिंग सुरु करते हो। बाकि पैसो का आदान प्रदान भी Demat account के जरिये किया जाता है। अगर आप Demat account से ट्रेडिंग सुरु करते हो तो रोज़ इसमें हानि और लाभ के अनुसार पैसे का लेन देन कर सकते है। Demat account में पैसा सीधे आप के बैंक अकाउंट से आदान प्रदान किया जाता हैं। आप चाहे तो अपने सारे शेयर को होल्ड करके भी रख सकते हैं।

How to open Demat Account

Demat account खोलने के लिए सबसे पहले आप को किसी एक ब्रोकरेज से संपर्क करना होगा। मार्किट में बहुत सारे ब्रोकर ऑनलाइन उपलब्ध है आपको कही जाने की जरुरत नहीं है। गूगल प्ले स्टोर पर सभी के अप्प आसानी से उपलब्ध है। आप अपने सुविधा के अनुसार किसी भी एक अप्प को इंस्टॉल कर के Demat account खोल सकते हैं।

Demat account निम्नलिखित सरल चरणों के साथ ऑनलाइन खोला जा सकता है :-

  • खाता निर्माण और सत्यापन प्रक्रिया को सुनिश्चित करने के लिए आपका मोबाइल नंबर आपके आधार कार्ड से जुड़ा रहना चाहिए है।
  • सभी आवश्यक व्यक्तिगत विवरणों के साथ ऑनलाइन आवेदन पत्र भरें।
  • आवासीय और संचार पता, शैक्षिक पृष्ठभूमि, बैंकिंग खाता विवरण कुछ प्रमुख आवश्यक दस्तावेज हैं जो आपको पूछे जाने पर भरना है।
  • Demat Account से संबंधित आवश्यक दस्तावेज अपलोड करें जैसे की फोटो पहचान पत्र और पते का प्रमाण।
  • भरे गए विवरण सत्यापन प्रक्रिया के लिए जाते हैं और कुछ दिन बाद सक्रिय हो जाते हैं।पूरी प्रक्रिया कागज रहित और अत्यधिक सुरक्षित है।
  • दस्तावेजों को लिखित रूप से जमा करने की कोई आवश्यकता नहीं है।
  • खाता खोलना और सक्रिय होने में एक दिन का समय लगता हैं।
  • प्रारंभ में, Demat account के लिए आवेदन करने से पहले, यदि आपके कोई प्रश्न हैं, तो आप किसी ग्राहक सेवा कार्यकारी से ऑनलाइन या किसी भी सहायता के लिए फोन कॉल के माध्यम से चैट कर सकते हैं।

Demat account benefits

Demat account शेयरों और उनके प्रतिभूतियों को रखने का एक सुविधाजनक और सुरक्षित तरीका है।, यह भंडारण या परिवहन से भौतिक प्रमाणपत्रों की जालसाजी, हानि और क्षति के जोखिम को समाप्त करता है। एक डीमैट खाता आपको प्रतिभूतियों को तुरंत स्थानांतरित करने में मदद करता है। व्यापार की स्वीकृति पर, शेयर डिजिटल रूप से आपके खाते में स्थानांतरित कर दिए जाते हैं। इसके अलावा, आपको लेनदेन के लिए स्टॉक एक्सचेंज जाने की आवश्यकता नहीं है क्योंकि आप अपने स्मार्टफोन या डेस्कटॉप का उपयोग करके चलते-फिरते व्यापार कर सकते हैं। चूंकि शेयरों के हस्तांतरण में कोई स्टांप शुल्क शामिल नहीं है, इसलिए लेनदेन की लागत भी कम हो जाती है। डीमैट खाते की ये विशेषताएं और लाभ निवेशकों द्वारा बड़े व्यापार की मात्रा को प्रोत्साहित करते हैं, जिससे आकर्षक रिटर्न की संभावना बढ़ जाती है।

यहाँ पर कुछ points दिए गए हैं जिसे समझने में आप को आसानी होगी :-

  • आदान या प्रदान में भौतिक प्रमाणीकरण के नुकसान या क्षति का कोई जोखिम नहीं है।
  • लेनदेन के समाशोधन और निपटान की प्रक्रिया को तेज करता है।
  • धोखाधड़ी और नकली या जाली शेयर प्रमाणपत्रों का जोखिम समाप्त हो जाता है।
  • ब्रोकरेज कम हो जाता है और लेनदेन की लागत में भी कमी आती है।
  • प्रतिभूतियों के हस्तांतरण के लिए किसी कागजी कार्रवाई की आवश्यकता नहीं है
  • पेपर-शेयरों की तुलना में अधिक सुरक्षित
  • इक्विटी और ऋण लिखतों के लिए एक खाता
  • व्यापारियों के लिए कहीं से भी काम करने की सुविधा
  • प्रतिभूतियों के हस्तांतरण, धारण करने में सुविधा और आसानी
  • क्रेडिट और डेबिट करने में आसानी होती हैं
  • लेन-देन की लागत कम, कागजी कार्रवाई कम, और प्रतिभूतियों के हस्तांतरण पर कोई स्टांप शुल्क नहीं।

Demat account charges

ज्यादा तर ब्रोकर डीमैट खाता खोलने के लिए एक बार शुल्क लेते हैं, वो भी आमतौर पर लगभग 150 रुपये से 300 रुपये होता हैं। इसके अतिरिक्त, आपको सालाना आदान प्रदान शुल्क का भुगतान करना होगा, जिसकी लागत भी उतनी ही या उससे अधिक होती है।

उद्घाटन शुल्क

उद्घाटन शुल्क नाममात्र या शून्य के बराबर होता हैं। कुछ बैंक इसे मुफ्त में करते हैं, जहां आप एक बार में बचत खाता, डीमैट खाता और ट्रेडिंग खाता खोल सकते हैं।

सुरक्षा शुल्क

पहले शेयर सर्टिफिकेट को सुरक्षित रखने के लिए आपको लगातार चिंता करनी पड़ती थी। हालांकि, डीमैट खातों ने ऐसी चिंताओं को मिटा दिया है। आपके शेयर अब चोरी नहीं किए जा सकते क्योंकि उन्हें इलेक्ट्रॉनिक प्रारूप में रखा जाता है। डिपॉजिटरी पार्टिसिपेंट्स (डीपी) और बैंक उन्हें सुरक्षित रखने के लिए एक बेसिक सालाना शुल्क लेते हैं।

वार्षिक रखरखाव शुल्क

आपको हर साल एक शुल्क देना होगा। आमतौर पर, 50,000 रुपये तक की शेष राशि वाले मूल डीमैट खाते के लिए कोई शुल्क नहीं लगता है। 50,00 से लेकर 2 लाख तक के निवेसकों के लिए सालाना चार्जेज 100 रुपये से 750 रुपये के बीच कुछ भी भुगतान करना पड़ सकता है। कुछ डीपी त्रैमासिक शुल्क भी ले सकते हैं, जबकि अन्य 2000 रुपये और ऊपर से अधिक का आजीवन शुल्क भी ले सकते हैं। जब लेनदेन का मूल्य 2 लाख रुपये से ऊपर हो तो वार्षिक शुल्क 2,000-2,500 रुपये तक जा सकता है।

लेनदेन शुल्क

कुछ डीपी या तो आपके द्वारा किए गए लेन-देन की संख्या या पूरे महीने के लिए एक समान दर के आधार पर शुल्क लेते हैं। हालांकि इस तरह के शुल्क भी अलग-अलग होते हैं, कुछ डीपी (डिस्काउंट ब्रोकरेज) आपके द्वारा ट्रेड किए जाने वाले प्रत्येक शेयर के लिए लगभग 1.5 रुपये चार्ज करते हैं।

डीमैट और रीमैट शुल्क

डीपी भौतिक शेयरों को डीमैटरियलाइज या रीमैटरियलाइज करने के लिए शुल्क लेते हैं। डीमैटरियलाइज़िंग की लागत लगभग 5 रुपये प्रति प्रमाण पत्र हो सकती है, जबकि रीमटेरियलाइज़ेशन के लिए आपको लगभग 25 रु प्रत्येक प्रमाणपत्र के लिए देना पद सकता हैं।

तो ये थी पूरी जानकारी What is Demat Account in Hindi के बारे में यदि आप को जानकारी अच्छी लगी हो तो हमें कमेंट कर के जरूर बताइए।

Leave a Reply

Your email address will not be published.